नोट ज्यादा जरुरी हैं या दोस्त….😊😊😊😊😊😊

Standard

जो बेरोजगार थे आज वो भी रोजगार वाले हो गए,
कल तक जो घुमते थे खाली, करते थे जो सिर्फ सैर-सपाटा,

कल तक जो माँगते थे उधार, पैसे ले के हो जाते थे फरार….😀😀😀😀,

आज सभी खाते धारक हो के बैंको में भर्ती हो गए हैं,

बैंको जानकारी ले के कतई कारोबारी हो गए हैं,

अरे बैंको में कहाँ काम मिलेगा उन्हें,

अरे बैंको में कौन घुसने देगा उन्हें,

वो तो बेचारे….!!!! 

हमारे प्रिय मोदी के दुवारा दिए गए आदेश से मजबूर हो गए हैं,

आज ए.टी.एम की लाईनो में लगे हैं एेसे,

जैसे बैंको में दमाद हो गए हैं,

सालो को सुबह बाँटने गया मुस्कराहटें,

सालो ने भगा दिया मेरे यारों,

कह रहे थे…..!!!!,

हट जा यार….!!!!,

मेरा नोट आएेगा, मेरा नोट आएेगा…..😀😀😀😀😀

अब तुम लोग ही बताओं,

नोट ज्यादा जरुरी हैं या दोस्त…..😊

Advertisements

या तो बिछड़ के मार दें, या तो मुझ में मिल के खुशी से मार दें…..!!!!😊👍

Standard

मेरी नजरों की गुस्सताखियाँ माफ करना,

जो तुझ से हटती नहीं है,

क्या करू यार ये तेरी तरह ढीट है,

चाह कर भी तू मेरे दिल से निकलती नहीं,

दिल एकपल के लिए धड़कना भूल जाए,

पर तू जो है न, बस तू हैं,

मेरे मरने के बाद भी तेरी आत्मा,

मेरी इस बेजान सी देह से निकलती नहीं,

अब तू ही हैं जो कुछ कर सकती हैं,

या तो मुझे बिछड़ के मार दें, या मुझ में मिल के खुशीयों से मार दें…..!!!!😊👍

कही गूँगा ही न मर जाऊँ…..😊

Standard

शाम का इशारा उफ्…..!!!!

 क्या रहे,

लफ्ज़ भी कम पड़ रहे हैं,

वो हया से यूँ उतर रहे हैं,

हलक्क में अटके लफ्ज़,

शर्मा के मुझ में ही लिपट गए हैं,
कैसे समझाए उन्हें….!!!!!,

कुछ तो संभालो अपनी अदाओं को,

जो मुझ से ही बात किए जाती हैं,

थोड़ा सा मुझे भी वक्त दो,

संभलने का…..,

चलो थोड़ा सा कोशिश करता हूँ,

खुद को संभलने की….,

जब ही तो कुछ गुफ्तगु कर पाऊंगा आप से,

पर यार लगता हैं….!!!!!

 कही गूँगा ही न मर जाऊँ….😊

न वो हमें चैन से रहनें देते हैं….!!!!

Standard

शराफत दिखाई तो आँखे दिखाई लोगों ने,

बदमाशी दिखाई तो डर से आँखे झुकाई लोगों ने,

समझ नहीं आता आखिर दुनिया चाहती क्या हैं,

दुनिया को आखिर समझ क्यूँ नहीं आता हैं,

इतनी दुविधा किस लिए,

ये दो रास्तो पर चलना किस लिए,

हाँ या नहीं में अक्सर टक्कर हो जाया करती हैं,

जिन्दगी के दूध में नीबूं डालने से दूधों की लस्सी बन जाया करती हैं,

जिस से कड़ी बना सकते हैं,

और साथ में चावल भी…..😀😀😀😀😀😊

पर जिन्दगी की कड़ी नहीं,

ये लोग समझतें क्यूँ नहीं,

न तो खुद चैन से रहते हैं,

न वो हमें चैन से रहनें देते हैं….!!!!!

बिखरनें नहीं दिया….!!!!

Standard

ये तस्वीर मेरी नहीं, सबके नजरिए की हैं,
ये हकीकत मेरी नहीं, सबके खुवाहिशों की हैं,

देखना और दिखना, हर कोई चाहता हैं,

किसी की नजरों और किसी की सपनों में, 

हर कोई सँवरना चाहता हैं,

पर अपने अपने नजरिए से, अपनी अपनी सीमाओं में,

अपने अपने रविय्यओं से, अपने अपने दाईरों में,

पर सवाल यह हैं, सबसे बड़ा बवाल यह हैं,

जवाब यह हैं, सबसे बड़ा कव्वाल वो है,

जिसने अपनी बदसूरती को,

बहुत ही खूबसूरती से पेश किया,

कबूल किया बदसूरती के हर ताने को,

पर अपने सिरत की सूरत को बिखरनें नहीं दिया.…..!!!!!

kya AAP ko mujh se pyaar nahi…!!!!!

Standard

Bhole ji, tussi great ho,

Hum yaha aap se milne aaye hai,

aur AAP DHIYAAN ME MAST HAI,

kabhi mera bhi dhiyaan kar liya karo,

Dekh rahe ho…..!!????!!!!…Mujhe,

Aap kaha se dekhogey aap k paas mere liye time hi kaha hai,

Aap keval mera chinta chhodd kar,

Baaki sabhi ki chinta kartey hai,

Q Bhole ji…..!!!!!????!!!!!,

Main theek keh raha hoon na,

Q kar rahe ho aisey Sitam,

Kab lagaaogey Marhamm mere jhakhmoo par,

Khoon ris rhaa hai, bikhar rhaa hai,

Fail rhaa hai, ab too dariya bhi banney wala hai,

Ansoo behte behte ZAM gaye,

Par aap Tass se Mass nahi hue,

KYA AAP KO MUJHE SE PYAAR NAHI….!!!!!

गैर में ही पर थोड़ा सा मेरा नाम भी हो जाए….😊

Standard

घिरे दुशमनों से, अब क्या करें दोस्तों,

हौसला नहीं पर, खुद पर भरोसा हैं दोस्तों,

सोचा मैने चलो दुशमनों से ही दोस्ती कर लें,

इसी बहानें बुरे वक्त को प्यार से सलाम कर लें,

क्या पता उन्हें भी मुझे प्यार हो जाए,

इस मुजरिम को भी सजा का तौफा मिल जाए,

ये दिल बदनाम तो था ही,
गैर में ही सही पर थोड़ा सा मेरा नाम भी हो जाए…..😊