Happy Friendship day to all ☺

Standard

Happy Friendship day to all

Advertisements

और खिल जाऐगी मेरी मुस्कान पहले जैसी!! 

Standard

ये कैसी बेरूखी हुई जिंदगी की,

मुझ पर ही हँसी और मुझ से ही खफा हो गई, 

चल भी न पाई सही से, 

और ये कैसे, और किसी के हवाले हो गई, 

मुझे यकीन नहीं था, औरों पर कैसे,

फिदा मुझ से ज्यादा हो गई, 

राह भर ढुढ़ता रहा, 

राह मेरी राहों में कही खो गई, 

खुद की कभी हो न पाई,  

दुसरों के बाँहों में कैसे रो गई, 

दुसरा और कोई नहीं, 

उसकी का ही प्रतिबिंब रहा, 

मेरा क्या हैं यारों मैं तो ऐसे ही,

अकेला तन्हा बेजार, 

कर्मों के बाजार में बिकता रहा!! 
कभी-कभी खुद को ही mis कर लेता हूँ
क्या था मैं और अब क्या हूँ मैं, 

यही सोच कर चुप हो जाता हूँ, 

जैसे अबतक मैं बदला,  

वैसे ही कभी मेरी जिंदगी बदल कर, 

एक दिन मुझे मिल ही जाऐगी,

और खिल जाऐगी मेरी मुस्कान पहले जैसी!! 

सब के लिए सिर्फ राजीव☺

Love You All Friends ☺👍

Standard

कलेजा फूँक्क जाता हैं, 

दिल जलने पर, 

पर इस जुबान का क्या करें,

जो अब भी गुण गाती हैं उनके!! 

😀😀😀😀

Standard

नहीं याद करते मुझे वो,

जो डूबे हूऐ हैं कर्जों में मेरे,

पर जहाँ तक मुझे याद हैं,

आप लोगों ने मुझ से,

कुछ कर्जा नहीं लिया हैं!!
फिर आप लोग मुझ से क्यूँ घबराते हैं😀😀😀😀

जिंदा!!

Standard

अपनी परवाह करता अगर,

तो कब का मर जाता हैं,

जिंदा हूँ,

बस उन के लिए,

जिन के लिए मैं जिंदा हूँ,

मरा समझते हैं मुझे,

वो लोग,

जिन की मैंने न मानी,

एक भी बात,

जिन की न करी,

मैनें चापलूसी,

कैसे जिंदा रहूँ उनके लिए,

जिन्हें मुझे देखते ही,

अपने मतलब याद आते हैं,

कैसे जिंदा हूँ उनके लिए,

जिन्हें मेरे जन्म से ही,

रहा अफसोस!!

टुटा तो पहले ही हुआ हूँ😊👍

Standard

मिले हैं चंद फुर्रसत के लम्हें,

सोचा तुम्हें उपहार में दें दूँ,

जिसकी कीमत कुछ न होगी,

तुम्हारी नजरों में,

पर एक बात कहना चाहूँगा,

ऐ मेरे हमदम,

तुम ने कभी ये सोचा हैं,

ये वही लम्हें हैं जिस ने,

तुम्हें मशगूल बताया,

और मुझे खाली,

सब :

जरूरी काम से,

जरूरी जाम से,

जरूरी अयाम से,

जरूरी ख्याल से,

जरूरी इम्तिहान से,

जरूरी भेड़-चाल से,

जरूरी उन सभी चीजों से,

जिनकी तुम्हें जरूरत,

महसूस होती हैं,

सिवाय मेरे!!
अरे यार cactus नहीं हूँ,

कभी छू कर तो देखो मेरा दिल,

सिर्फ आँसू ही आँसू मिलेंगें,

जो मैंने तुम्हारें लिए बहाऐं,

जो मैनें तुम्हारें लिए सजाऐं,

पलकों पर अपनी,

झलकों में तेरी,

कभी हो महसूस,

मेरी जरूरत,

तो बता देना,

फ्री में आ जाऊँगा,

बाँटने तेरे दर्द,

और से भी पैसे नहीं लेता,

रूपयें लेता रूपयें,

रूपये देता भी हूँ,

अपना चेहरा चमकाने के लिए,

डरता हूँ खुद से,

खुद बिखर सकता हूँ,

पर नहीं देख सकता,

तुम्हें टुटते हुऐ,

जोड़ सकते हो,

तो जोड़ लो,

टुटा तो पहले से ही हुआ हूँ,

टुटा तो पहले से ही हुआ हूँ!!😊👍